Cloudburst Meaning in Hindi

Cloudburst Meaning in Hindi: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका ज्ञानवर्ल्ड में मै हु आपके साथ अजीत ठाकुर आज हम बात करने वाले है एक दिलचस्प सवाल के बारे में की बादल आखिर क्यों और कैसे फटता है और इसके फटने के पीछे क्या कारण हो सकता है। Cloudburst Meaning in Hindi

पानी के छोटे छोटे लाखो करोड़ो बिंदु मिलकर बादल बनते है धरती से पानी भाप के रूप में evaporate होकर ऊपर जाता है ऊपर काम तापमान के कारण भाप ठंडा हो जाता है और धुल के छोटे छोटे molecules के साथ टकराते है, इस टकराव के साथ भाप का फिर से छोटी छोटी पानी की बूंदो में रूपांतरण हो जाता है इस तरह पानी के लाखो बिंदु मिलकर बादल बनते है, और ये बादल इतने भारी होते है की वो आसानी से हवा में तैर नहीं पाते और धरती है बारिश के रूप में बरस पड़ते है।

काम तापमान में ये बूंदे हवा में ही जम जाते है जिसके कारण snowfall होता है या फिर ओले गिरते है ये तो बात थी की बादल कैसे बनते है और बारिश कैसे होती है चलिए अब जानते है बादल कैसे और क्यों फटते है।

Reason of Cloud Burst

बादल फटने पर बड़े नुक्सान के बारे में आपने जरूर सुना या देखा होगा और ऐसी आपदा में दुःख के साथ साथ आश्चर्य भी होता है की आखिर ऐसा क्यों और कैसे होता है।

बादल का फटना ऐसी घटनाये खास तौर पर पहाड़ी इलाको के ज्यादातर देखने को मिलती है भरी हवाएं पहाड़ी से टकराकर ऊपर की तरफ चढ़ती है और बादल भी उनके साथ ही ऊपर की तरफ उठते जाते है ज्यादा उचाई पर जाने पर तापमान काम होने लगता है ऊपरी हवा का दबाव का और ठण्ड बादलो को और ज्यादा घना बनाती है जबकि निचे से आती हवा बादलो को बरसने नहीं देती इस कश्मकश के बिच बादलो में पानी बढ़ता ही जाता है, और बर्फ के रूप में बदलता जाता है।

और अब अंत में घनत्व बढ़ने और बादलो के भारी हो जाने के कारण एक भारी मात्रा में बर्फ और पानी जमीं पर गिर पड़ते है जो पानी कई सफ्ताह और महीनो तक धीरे धीरे गिरना चाहिए और महज कुछ ही घंटो में एक साथ गिर पड़ता है और इतने सारे पानी से कई बड़े बाँध टूट जाते है और पानी चारो और कहर बनकर टूट पड़ता है जिसे हम बादल का फटना या CLOUDBURST कहते है।

पृथ्वी के सतह से 20 मील ऊपर स्पेस शुरू हो जाता है लेकिन पृथ्वी के आस पास वातावरण के लेयर्स है और इन लेयर्स में बादल तैरते है। चलिए जानते है बादल कितने प्रकार के होते है।

Cloudburst Meaning in Hindi
Cloudburst Meaning in Hindi

Types of Clouds

  • Altostratus Cloud
  • Altocumulus Cloud
  • Cirrus Cloud 
  • Cirrocumulus Cloud
  • Cirrostratus Cloud
  • Cumulonimbus Cloud   

1) Altostratus Cloud

 Altostratus Cloud यह बादल पृथ्वी की सतह से 2000 से 6000 फ़ीट तक की उचाई पर तैरते है ये बादल तेज गति वाले होते है और त्रीवता से अपना आकर बदलते है और काफी जल्दी बरस जाते है

2) Altocumulus Cloud

Altocumulus Cloud, Altostrats के भाई जैसे ही होते है यह बादल भी 6000 फ़ीट की उचाई तक ही मंडराते है लेकिन आकर में छोटे और सुनहरे किनारे वाले ही होते है सूरज के प्रकाश में इनका दृश्य मनमोहक लगता है

3) Cirrus Cloud 

400 से 18000 फ़ीट तक तैरने वाले बदलो को Cirrus Cloud कहा जाता है पुछ के आकर के और भेड़ के ऊन जैसे ये बादल काम घने होते है इसलिए यह बादल सूर्य के प्रकाश को परावर्तित करते है

4) Cirrocumulus Cloud

Cirrocumulus Cloud यह लगभग 20000 फ़ीट तक की उचाई तक उड़ते है यह बादल बिखरे हुए और समुद्री लहरें जैसे होते है यह बादलो का छोटा छोटा समूह बनाकर एक बड़ा बादल बनाते है।

5) Cirrostratus Cloud

18000 से 50000 तक की उचाई पर भ्रमण करने वाले बादलो को Cirrostratus Cloud कहा जाता है यह बादल घने और फैले हुए होते है और इन बादलो के घिराव के कारण अँधेरा छा जाता है मौसम काफी गंभीर हो जाता है और इन्हे देखकर भारी से भारी बारिश की कल्पना की जाती है।

6) Cumulonimbus Cloud     

धरती की सतह से 50000 से 70000 फ़ीट तक की उचाई पर उड़ने वाले इन बदलो को Cumulonimbus Cloud कहा जाता है ये बिजली तूफ़ान और भवंडर के लिए जवाबदेह होते है इन बादलो के आधार पर तूफ़ान की आगाही की जाती है।

कुछ बादल इतने निचे होते है की इन्हे हाथो से छुआ जा सकता है जिन्हे Fog या कोहरा कहा जाता है जमीन पर फैली धुन्द या कोहरा भी एक बादल का ही प्रकार है।

Leave a Comment