Essay On Sikkim Culture In Hindi – हिंदी में सिक्किम पर निबंध

Essay On Sikkim Culture In Hindi: सिक्किम भारत का एक पहाड़ी राज्य है। अंगूठे के आकर वाला ये राज्य अपनी हरी भरी वनस्पति, सुन्दर प्राकर्तिक घाटियों, सुन्दर प्राकर्तिक और जैव विविधता सिक्किम को एक पसंदिता स्थान बनाती है। अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया में प्रसिद्ध सिक्किम की राजधानी गंगटोक है। गंगटोक राजधानी होने के साथ साथ यहां का सबसे बड़ा शहर भी है।

Essay On Sikkim Culture In Hindi

भारत का सबसे काम आबादी वाला राज्य होने के बावजूद, सिक्किम प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है, यह देश के पूर्वोत्तर भाग में स्तिथ है दक्षिण से यह पश्चिम बंगाल से घिरा हुआ है, दक्षिण पूर्व में भूटान से, पश्चिम में नेपाल और चीन के तिब्बत स्वायत्त छेत्र में उत्तर पूर्वी हिस्से पर स्तिथ है। बर्फ से ढकी हिमालय की चोटियो, फूलो के गुच्छो से लदे मैदान, चमकदार रंग बिरंगी संस्कृति और त्योहारों के बिच सैलानी यहाँ बहुत सुकून महसूस करते है।

सिक्किम जो दुनियाभर में अपने प्राकर्तिक नजारो और सुन्दर दृश्यों के लिए मशहूर है, यहाँ की खूबसूरती को देखने के लिए लोग दूर दूर से आते  है।       

Sikkim Project File in Hindi      

और मौसम और प्रकृति का आनंद लेते है। कंचनजंगा पर्वत, इस साफ़ सुथरे  राज्य की शान है, जोकि दुनिया का तीसरा  सबसे बड़ा पर्वत है, जिससे गंगटोक से देखा जा सकता है। सिक्किम में गर्म पानी के अनेक झरने है जो बीमारियों को ठीक करने के लिए प्रसिद्ध है। इनमे फुरचाचू, युमथांग, बोराँग, रालंग, तरमचु, और युमी, सामंडोंग है।        

गंगटोक में देखने वाले जगहों में खाश ऐंची मठ, स्थायी पुष्प प्रदर्शनी जो वाइट मेमोरियल हॉल के पास वाइट हॉल में लगायी जाती हैं, डो ड्रल चार्टन स्तूप, हथकरघा और दश्तकारी केंद्र, नाम ग्याल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेबोटोलॉजी, सरमासा गार्डन, रामटेक धर्मचक्र केंद्र, जवाहर नेहरू वनस्पति उद्यान, ताशी व्यू पॉइंट आदि है।        

Sikkim Tradition And Culture In Hindi

गंगटोक में पीलिंग, युकसम, मंगन, जोरथांग, गेजिग, भी सिक्किम के पर्यटन स्थल है।

जो भो सैलानी सिक्किम आता है वह कंचनजंगा नेशनल पार्क देखने जरूर जाता है, यह छेत्र आरक्षित वनो के तहत आता है।  यहाँ की खाश बात ये है की यहाँ कोई रिहाइश नहीं है।

यहाँ स्नो लेपर्ड, रेड पांडा, मुश्क डियर, भरल, हिमालयन ताहा, गोरल सिरों, लेजर कैट जैसी कई दुर्लभ प्रजातियां पायी जाती है। कंचनजंगा नेशनल पार्क के अलावा हिमालयन जूलॉजिकल पार्क, क्योंगनुषला अल्पाइन अभ्यारण और फेम्बोंग लौ वन्य जीवन अभ्यारण यहाँ के खाश दर्शनीय स्थल है। यहाँ पक्छियो की कूल 550 प्रजातियां बताई जाती है     

Essay On Sikkim Culture In Hindi: तीस्ता सिक्किम की सबसे बड़ी नदी है और रंगीत भी यहाँ की प्रमुख नदी है।  यदि हम सिक्किम सर्दियों के मौसम में जाते है तो यहाँ बर्फ से ढके पहाड़ देखने को मिलते है। तीस्ता सिक्किम की सबसे बड़ी नदी है और रंगीत भी यहाँ की प्रमुख नदी है।  यदि हम सिक्किम सर्दियों के मौसम में जाते है तो यहाँ बर्फ से ढके पहाड़ देखने को मिलते है और यदि हम गर्मियों के मौसम में यात्रा करने जाये तो यहाँ की हरयाली और प्राकर्तिक दृश्यों का कुछ और ही नजारा देखने को मिलता है।

यहाँ के भूटिया समुदाय के लोगो की पारम्परिक वेशभूषा खो है जिसे बाखु के नाम से भी जानते है। सिक्किम में बेस नेपाली लोगो की वेशभूषा का भी समावेश दिखाई पड़ता है। यहाँ के लेप्चा समुदाय के पुरषो की वेशभूषा को थोकोरो-दम के नाम से जाना जाता है।

इस राज्य में भूटिया, नेपाली, नेपाली, और लेप्चा समुदाय के लोग निवास करते है, इस कारण यहाँ की संस्कृति में इनका सम्मिश्रण देखने को मिलता है। भारत के अन्य राज्य की तरह सिक्किम के प्रमुख त्यौहार दशहरा,, दीपावली,, संक्राति, राम नवमी प्रमुख है।         

Essay On Sikkim Culture In Hindi

साथ ही यहाँ के लोग दिसंबर के महीने में तिब्बती नववर्ष काफी उत्साह के साथ मानाते है, इसके अलावा सिक्किम के मुख्य त्यौहार में लोसर, साकेवा, सोनम लोचर आदि के मुख्य नाम है। सिक्किम के लोक नृत्य के अंतर्गत सिकमारी, छू फाट नृत्य, सिंघई चाम या सनौ लायन डांस , याक छाम, देंजोंग नेनहा, ताशी यांग्कू नृत्य, मार्रोनी नाच, खुखरी नाच, चुटकी नाच आदि शामिल है।            

सिक्किम की मुख्य भाषा में हिंदी, लेपचा, खश, अंग्रेजी भूटिया और लिम्बु का नाम आता है।

 Sikkim की कलाकृतिया भी काफी प्रसिद्ध है जो देखने में बेहत खूबसूरत और आकर्षक होती है, सिक्किम की कलाकृति में बुनाई, वुड कार्विंग, थांगका पेंटिंग है।

Sikkim के लोगो का रहन सहन काफी अच्छा है,  बौद्ध धर्म और हिन्दू धर्म के लोगो की सिक्किम में संख्या अधिक है लेकिन सिक्किम में सभी समुदाय के लोगो में आपसी भाईचारा और अत्यधिक प्रेम है।  शांतिप्रिय है। Sikkim भारत का एक कृषि प्रधान राज्य है, यहाँ की अर्थवयवस्था, पर्यटन, खेती, उद्योग व बागवानी पर निर्भर करता है राज्य की प्रमुख फसलों में मक्का, चावल, गेहू, बड़ी इलाइची, अदरक आदि शामिल है।              

इलाइची की खेती बड़े पैमाने पर होने के कारण यह भारत का सबसे बड़ा इलाइची उत्पादक राज्य है, सिक्किम राज्य इतना सुन्दर है इसके बारे में जितना बताया जाये उतना कम है। 

Leave a Comment