Miss Florence Nightingale History In Hindi

Miss Florence Nightingale History In Hindi: एक अनोखा जीवन जीने वाली फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म इटली के फ्लोरेंस नगर में हुआ, इनके माता पिता इंग्लैंड के धनि परिवार से थे फ्लोरैंस के जन्म के समय उनके माता पिता इटली का भ्रमण कर रहे थे, इसलिये इनका नाम उस शहर के नाम पर रख दिया गया, 12 मई 1820 में जन्मी फ्लोरेंस नाइटिंगेल इंग्लैंड के डालिशायर में पली बढ़ी बचपन से ही इस लड़की में दुःखी इंसानों और जानवरों की सेवा करने की प्रबल इक्छा थी

Miss Florence Nightingale History In Hindi

Miss Florence Nightingale History In Hindi

एक बार एक कुत्ते की टांग टूट गयी, बेजुबान कुत्ते पर फ्लोरेंस नाइटिंगेल को दया आ गयी और फ्लोरेंस ने उसकी टूटी हुई टांग पर पट्टी बांध दी, कुछ दिनों के बाद कुत्ता चलने फिरने लग गया

फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने साहितय, संगीत और चित्रकला में उच्च शिक्षा प्राप्त की, उस समय के धनि वर्ग में इतनी शिक्षित महिला अपने परिवार में सुख शांति का जीवन व्यतीत कर सकती थी, लेकिन फ्लोरैंस ने सब सुखों को त्याग दिया यहाँ तक की शादी करने से भी मना कर दिया

जब उन्होंने अपने माता पिता से नर्स बनने की इक्छा बताई तो माता पिता ने विरोध किया और खूब डाटा, क्युकी उस समय अस्पतालों की स्तिथि काफी ज्यादा ख़राब थी, अस्पताल बोहोत घुटन भरे, गंदे और साधन विहीन थे, यहाँ तक की पढ़ी लिखी नर्स भी नहीं होती थी

लेकिन फ्लोरेंस नाइटिंगेल का इरादा पक्का था, उसके बाद फ्लोरैंस जर्मनी नगर के केसरजोर गयी, वहाँ उन्होंने 6 महीने तक नर्सिंग विद्या ग्रहण की फिर वह वहां से वो फ्रांस चली गयी, फ्रांस में रहकर फ्लोरेंस ने नर्सिंग का नवीन ज्ञान प्राप्त किया , लंदन अपने घर वापस जाकर उन्होंने एक नर्सिंग नर्सिंग ट्रेनिंग स्कूल खोल दिया

सन 1854 में इंग्लैंड, फ्रांस और तुर्की से रूस के बीच घमासान लड़ाई हुई, लंदन के एक समाचार पत्र में में लड़ाई में घायलो की दुर्दशा पर दिल दहला देने वाला एक लेख प्रकाशित हुआ

Florence Nightingale Summary In Hindi
Florence Nightingale History In Hindi

जिसे पढ़कर फ्लोरेंस नाइटिंगेल रो पड़ी, फ्लोरैंस अपने ट्रेनिंग स्कूल की सभी छात्राओं को लेकर तुर्की के अस्पताल पहुँच गयी, लेकिन उनका वह जाना डॉक्टरों को अच्छा नहीं लगा, डॉक्टरों को एक औरत का अपने काम में दखल देना अच्छा नहीं लगा

Florence Nightingale Short Biography In Hindi

लेकिन इसकी परवाह न करते हुए उन्होंने अपनी साथियो की सहायता से घायलों के कपडे बदले, गंदे कपड़ो को धोया और पूरी लगन और सहानुभूति के साथ उनकी मरहम पट्टी की, घायलों के लिए भोजन और दवाओं का भी प्रबंध किया

लगभग दो वर्ष तक युद्ध चला, इस लड़ाई के बीच अस्पतालों का सारा प्रबंध फ्लोरेंस नाइटिंगेल के हाथ रहा

घायलो की उन्होंने लगन से सेवा की अस्पतालों की सफाई की और उन्होने विशेष ध्यान दिया कि मरीजों को पोस्टिक आहार उपलब्ध करवाया जाये, रात में लैंप लेकर फ्लोरेंस घायलों को देखने जाती थी, जिस से घायलों का आधा दुःख दर्द दूर हो जाता था

Florence Nightingale History In Hindi: इसी कारण फ्लोरेंस नाइटिंगेल को लैंप वाली महिला के नाम से भी जाना जाता है, तन मन से घायलों की सेवा करते करते, फ्लोरेंस नाइटिंगेल खुद इतनी गंभीर बीमारी हुई कि अपने अंतिम समय तक बिस्टेर से भी उठ नहीं पायी

World Nurses Day History In Hindi Pdf

बीमारी के कारण कमजोर होने पर भी फ्लोरेंस ने नर्सिंग प्रशिक्षण के स्तर को बनाए रखने के प्रयास जारी रखे, वर्ष 1860 में उन्होंने एक नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की जो आज भी नर्सिंग प्रशिक्षण का आदर्श केंद्र माना जाता है

फ्लोरेंस नाइटिंगेल बीमारों की सेवा में विशेषज्ञ मानी जाती थी इसलिए अमेरिका में सिविल वॉर के समय वहा के घायल सिपाहियों की सेवा के लिए इनसे सलाह मांगी गयी, यह पहली महिला थी जिन्हें लंदन में “आर्डर ऑफ मेरिट” से सम्मानित किया गया

सन 1907 में रेड क्रॉस संस्था के अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन में इन्हे रेड क्रॉस आंदोलन का पथ-प्रदर्शक माना गया

World Nurses Day History In Hindi

फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म दिवस 12 मई  “अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस” के रूप में विश्व भर में मनाया जाता है

भारत के राष्ट्रपति इस दिन नर्सिंग कर्मियो को उनकी विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्कार से सम्मानित करते है

आज भी फ्लोरेंस नाइटिंगेल निस्वार्थ और अथक सेवा का प्रतिक मानी जाती है

अगर ये फ्लोरेंस नाइटिंगेल की कहानी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करने न भूलें अगर इस आर्टिकल में कुछ गलतियां या आपके कुछ सुझाव है तो हमें कमेंट करके बताये

दोस्तों इसी तरह के लोकप्रिय सामान्य ज्ञान से जुड़े आर्टिकल्स के लिए निचे दिए बॉक्स से हमारे डेली न्यूज़लेटर को अपनी ईमेल द्वारा सब्सक्राइब करे

यह भी पढ़े

Irrfan Khan Biography In Hindi – irrfan khan success story
Titanic Jahaj History In Hindi – Mystery of Titanic in Hindi
Usain Bolt Biography in Hindi – चीते की रफ्तार / उसेन बोल्ट – लाइटनिंग बोल्ट
Virat Kohli Biography In Hindi / Success Story Of Virat Kohli
History of Chewing Gum in Hindi

नमस्ते मेरा नाम अजीत ठाकुर ज्ञानवर्ल्ड में आपका स्वागत है, मै पिछले 4 सालो से कंप्यूटर सॉफ्टवेयर टीचर हूँ और साथ ही ज्ञानवर्ल्ड वेबसाइट का लेखक हूँ। मेरा उद्देशय और इस वेबसाइट के माध्यम से ज्ञानवर्धक जानकारियां उपलब्ध करवाना है जो विभिन्न विषयो में आपका ज्ञान बढ़ाएगी। उम्मीद करता हूँ आपको यह एजुकेशनल वेबसाइट पसंद आएगी

Related Posts

Mughal Samrajya Ka Sansthapak Kaun Tha

Mughal Samrajya Ka Sansthapak Kaun Tha

Mughal Samrajya Ka Sansthapak Kaun Tha: मुग़ल साम्रज्य जिन्होंने भारत पर लगभग 331 सालो तक राज किया मुग़ल साम्राज्य का शासन वर्ष 1526ईo से लेकर वर्ष 1857ईo…

Ratan Tata Biography In Hindi

Ratan Tata Biography In Hindi

Ratan Tata Biography In Hindi: ECG मशीन में सीधी लाइन का मतलब मौत होता है मतलब व्यक्ति जीवित नहीं है ऐसे ही जिंदगी में उतार चढ़ाव का…

Bhangarh Fort Story In Hindi

Bhangarh Fort Story In Hindi – Bhangarh Story In Hindi

Bhangarh Fort Story In Hindi: कहा जाता है की राजस्थान एक ऐसी जगह है जहाँ कोई न कोई कहानी या राज दफ़न है और आज की यह…

, Doodle For Google 2022 Winner

Doodle For Google 2022 I Doodle For Google 2022 India Winner

Doodle For Google 2022: 14 नवंबर बाल दिवस के दिन पर Google ने Doodle For Google 2022 के विजेता जी घोषणा की। जानिए श्लोक मुखर्जी के बनाये…

करवा चौथ की रात को पति पत्नी क्या करते है

Karva Chauth Ka Vrat Kab Hai 2022 – पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, कथा

Karva Chauth Ka Vrat Kab Hai: कार्तिक मास की शुरुआत होते ही त्योहारों का मौसम शुरू हो जाता है, कार्तिक मास की हर तिथि का महत्व है…

This Post Has 26 Comments

  1. Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any
    widgets I could add to my blog that automatically tweet my newest twitter updates.
    I’ve been looking for a plug-in like this for quite some time
    and was hoping maybe you would have some experience with something like this.

    Please let me know if you run into anything.
    I truly enjoy reading your blog and I look forward to your new updates.

  2. Hi there it’s me, I am also visiting this site daily,
    this website is genuinely nice and the users are in fact sharing good thoughts.

  3. Hi it’s me, I am also visiting this site regularly, this site is in fact
    good and the viewers are in fact sharing good thoughts.

  4. I’ve been browsing on-line more than three hours as of late,
    but I never discovered any interesting article like yours.
    It is lovely value sufficient for me. In my opinion, if all site owners
    and bloggers made excellent content material as
    you probably did, the internet will probably be a lot more helpful than ever before.

  5. Hi there! Would you mind if I share your blog with my facebook group?
    There’s a lot of folks that I think would really enjoy
    your content. Please let me know. Many thanks

    Also visit my site; Christa

  6. I loved as much as you’ll receive carried out right here.

    The sketch is tasteful, your authored subject matter stylish.
    nonetheless, you command get got an shakiness over that you wish be delivering the following.
    unwell unquestionably come further formerly again as exactly the
    same nearly very often inside case you shield this hike.

  7. First of all I want to say superb blog! I had a quick question which
    I’d like to ask if you do not mind. I was curious to know how you center yourself and clear your mind before writing.
    I’ve had a difficult time clearing my mind in getting my ideas out
    there. I truly do enjoy writing but it just seems like the first 10 to 15 minutes
    are wasted simply just trying to figure out how
    to begin. Any ideas or tips? Thanks!

  8. Hello there, You’ve done a fantastic job.

    I will definitely digg it and personally recommend to my friends.
    I am sure they’ll be benefited from this site.

  9. After looking into a number of the blog articles on your blog, I really appreciate your way of blogging. I saved it to my bookmark website list and will be checking back in the near future. Please check out my website too and tell me how you feel.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *