Mahatma Gandi Essay in Hindi

Essay in hindi

Mahatma Gandhi

महात्मा गाँधी हमारे भारत देश के एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे। इनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 पोरबंदर गांव में हुआ था। गाँधी जी के पिता का नाम करमचंद गाँधी और माता का नाम पुतलीबाई था। गाँधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी था।

हम उन्हें बापू और राष्ट्रपिता के नाम से भी जानते है। गाँधी जी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर में और माध्यमिक शिक्षा राजकोट में पूरी की। उन्होंने इंग्लैंड जाकर अपनी वकालत की परीक्षा पास की।

उस समय भारत पर अंग्रेजी का शाशन था। महात्मा गाँधी जी ने देश की स्वतंत्रता की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने अंग्रेजो के खिलाफ और देश को स्वतंत्रता दिलाने के लिए सविनय अवज्ञा आंदोलन, दांडी मार्च, भारत छोड़ो जैसे आंदोलन चलाये थे।

आखिर में महात्मा गाँधी जी के नेतृत्व और कई कोशिशों के कारण देश को आजादी मिली। देश की आजादी के लिए गाँधी जी ने सत्य और अहिंसा का मार्ग अपनाया।

महात्मा गाँधी जी के पूर्व भी शांति और अहिंसा के बारे में लोग जानते थे, परन्तु गाँधी जी ने जिस प्रकार सत्याग्रह, शांति और अहिंसा के रास्ते पर चलते हुए अंग्रेजो को भारत छोड़ने पर मजबूर किया, उसका कोई दूसरा उदहारण विश्व के इतिहास में देखने को नहीं मिलता।

महात्मा गाँधी जी का जीवन सादगीवाला था। वे स्वदेशी वस्तुओ के प्रयोग पर बल देते थे और कड़ी वस्त्र पहनते थे। उन्होंने लोगो को मानवता का सन्देश दिया दुर्भग्यवश, ऐसे महान व्यक्तित्व के धनि महात्मा गाँधी जी का देहांत 30 जनवरी 1948 को हुआ।

राष्ट्रपति महात्मा गाँधी जी पूरा जीवन अनुकरणीय है। आज भी हम उनके आदर्श विचारो को अपनाकर समाज में महत्वपूर्ण बदलाव ला सकते है।